सोमवार, 19 जुलाई 2010

कर्नाटक में हैं स्कूलों से ज्यादा मंदिर

बेंगलुरुः ऐसा लगता है कि कर्नाटक के रहने वाले, खासतौर पर बेंगलुरु के निवासी काफी धार्मिक हैं। पूरे राज
्य में दो लाख से भी ज्यादा पूजा स्थल हैं, जिनमें 5,739 अकेले बेंगलुरु में ही स्थित हैं।
2001 की जनगणना के मुताबिक शिक्षा संस्थानों (1.16 लाख) और हॉस्पिटलों (38,380) की कुल संख्या भी धार्मिक स्थलों से काफी कम है। आंकड़ों के हिसाब से पूरे राज्य में 2.07 लाख धार्मिक स्थल हैं। दिलचस्प बात यह है कि जहां हर 263 लोगों के लिए एक पूजा स्थल है, जबकि हर 455 लोगों के लिए एक स्कूल/कॉलेज और हर 1,375 व्यक्तियों के लिए एक हॉस्पिटल या डिस्पेंसरी है।
15,000 पूजा स्थलों से ज्यादा होने की वजह से बेलगाम, गुलबर्गा और बेंगलुरु पूरे राज्य में क्रमश: पहले तीन स्थानों पर हैं। इनके अलावा चार और जिलों- तमकुर, कोलार, दक्षिण कन्नड़ा और बीजापुर में 10 हजार से ज्यादा धर्म स्थल हैं। क्षमाराजनगर में 2,912 और कोडागु में सबसे कम 1,756 पूजा स्थल हैं। राज्य के शहरों और कस्बों में बेंगलुरु (वृहत बेंगलुरु महानगर पालिका इलाका) 5,739 धार्मिक स्थलों समेत पहले नंबर पर है। हुबली-धारवाड़ 1,429 और मेंगलूर 1,268 पूजा स्थलों समेत दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें